Monday, March 24, 2014

यादों का शोर

वो कहते हैं, मैं खामोश सी लगती हूँ लेकिन...
मेरे वजूद में एक हलचल सी हैं...
कैसे कहूँ उनसे कि ये उनकी यादों का शोर हैं...
जिससे मेरे मन का कोना-कोना आबाद हैं... (अर्चना )

2 comments:

  1. बहुत सुन्दर...कोमल अभिव्यक्ति..

    ReplyDelete